…तो एंटी क्लॉक चलने वाली घड़ियों से दूर होंगी दुनिया की समस्याएं!

आदिवासियों के मुताबिक जब तक दुनिया उनकी एंटी क्लॉक चलने वाली घड़ी नहीं अपनाएगी, दुनिया की समस्याएं दूर नहीं होंगी.

आपके घर या दफ्तर में जो घड़ी टंगी है, वो गलत है. आप की कलाई पर जो घड़ी बंधी है, वो गलत है. अब तक आप जिन घड़ियों को सही मानकर वक्त देखा करते थे, वो सब गलत हैं. ये दावा उस आदिवासी समुदाय ने किया है, जिन्होंने सालों पहले हमारी घड़ी को देखना बंद कर दिया है. उन्होंने घड़ी को उल्टा देखना शुरू कर दिया है, और उनकी माने तो उल्टी घड़ी से ही दुनिया का मंगल हो सकता है. Read more

Courtesy: News18 Hindi

सामाजिक पत्रकारिता से संभव मुद्दों का निदान : अशोक श्रीमाली

खान खनिज और  लोग(mm&P) व समता के सयुंक्त तत्वावधान में सोशल एक्टिविस्ट क्षमतावर्धन कार्यक्रम (चार दिवसीय) सामाजिक पत्रकारिता (सोशल मीडिया) प्रशिक्षण कार्यक्रम द साहिल होटलमुम्बई सेन्ट्रल मुम्बई महाराष्ट्र में आयोजित किया गया। 

आयोजित प्रशिक्षण में उड़ीसा से मुख्य प्रशिक्षक श्री लोकनाथ स्वाइन द्वारा सामाजिक पत्रकारिता  के विभिन्न माध्यमों जैसे कि वाट्सएपफेसबुकट्वीटरइंस्टाग्रामगूगलजीमेल आदि पर प्रभावी रूप से प्रशिक्षण प्रदान किया गया। प्रशिक्षण की पद्धतिशैली प्रभावी थी। 

उक्त प्रशिक्षण में प्रमुख रूप से समता विशाखापट्टनम के डायरेक्टर रवि रब्बाप्रगड़ा ने सामाजिक पत्रकारिता की सामाजिक समस्याओं के निदान हेतु व्यापक जन समर्थन को प्रभावी माध्यम बताया और इसका उपयोग करने की अपील की। 

Read more

Courtesy: Rubaru News

Illegal mining through out the Country

District level consultation on Children in mining area, district mineral foundation (DMF), Illegal mining and Future Generation Fund organised at Ramagundam in Telangana 27th May 2018. More than fifty participants participated from Coal mining area of Singaneri, Advocates, Journalist, Lecturers.

जनजातीय क्षेत्रों मे कानूनी पहलुओ पर पैरालीगल प्रशिक्षण

समुदाय को कानूनी सक्षम बनाने हेतु विशाखापट्टनम के दबन्दा में समता व माइन्स मिनरल & पीपुल्स (एमएम&पी) के संयुक्त तत्वावधान में जनजातीय क्षेत्रों में कानूनी व मानवाधिकारों के विभिन्न पहलुओं पर पैरालीगल प्रशिक्षण आयोजित किया गया।

उक्त अधिकार आधारित पैरालीगल प्रशिक्षण में स्रोत व्यक्ति बीटी वेंकटेश वरिष्ठ अधिवक्ता कर्नाटक, के एस मूर्थी वरिष्ठ अधिवक्ता तेलंगाना, अशोक श्रीमाली जनरल सेक्रेटरी एमएम & पी गुजरात, रवि रब्बाप्रगड़ा चेयरपर्सन एमएम & पी आंध्रा रहे।

प्रशिक्षण में यूसुफ बेग के निर्देशन में मध्यप्रदेश के रामजीशरण राय स्वदेश ग्रामोत्थान समिति दतिया, आर. एस. गौर नूतन ग्रामोत्थान समिति गोहद भिण्ड, सिया दुलारी, पुष्पेंद्र कुमार, संजय कुमार आदिवासी संगठन रीवा, छत्तीसगढ़ से राजेश त्रिपाठी, सविता रथ सहित झारखंड, उड़ीसा, आंध्रप्रदेश, गुजरात आदि प्रदेश के सामाजिक कार्यकर्ता सम्मिलित हुए।

रामजीशरण राय ने बुन्देखण्ड के मजदूरों के मुद्दों पर जानकारी देते हुए अवैध उत्खनन, खनन क्षेत्र में कार्यरत मजदूरों के बच्चों व महिलाओं के संवैधानिक अधिकारों की वर्तमान स्थिति की प्रस्तुत किया। जबकि आर एस गौर द्वारा खदान क्षेत्र में मजदूरी के दौरान हुई मौतों की अनदेखी व क्षेत्रीय जन आंदोलन को प्रस्तुत किया गया सियादुलारी द्वारा आदिवासियों को उनके निवास से जबरन हटाने के मुद्दे की जानकारी दी। प्रशिक्षण का सफल संयोजन मिथुन राज व सतीश कुमार समता विशाखापट्टनम द्वारा किया गया। आगामी प्रशिक्षणों में अपने क्षेत्र में कार्यरत अधिवक्ताओं को भी सम्मिलित किया जावेगा यह तय किया गया ताकि मजदूरों के अधिकारों का संरक्षण हो साथ ही शासकीय जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सके। उक्त जानकारी रामजीशरण राय दतिया ने दी।

News source link

‘Law has failed to curb child labour in mining’

Activists and academics at the State-level Consultation on Children in Mining Area held here on Monday rued that not a single person had been convicted under the Child Labour (Prohibition and Regulation) Amendment Act, 2016.

“There is no data on the rehabilitation provided to the children rescued from child labour and not one employer has been punished for employing children. The legislation has been ineffective and has failed to stop child labour,” said Joseph Victor Raj, Director, Hope India. Read more

1 2 3 4 5 6