In Gujarat, Tribal Evictions, State Repression in the Guise of Tourism

The Wire | Feb 06, 2020

The new Statue of Unity Act illegally converts a forested area over which the local tribal population has constitutionally guaranteed rights into an ‘urban’ area in which they will need government permission to do anything.

The recently enacted ‘Statue of Unity (SoU) Area Development and Tourism Governance Act, 2019’ in Gujarat comes amidst a terrifying atmosphere of intimidation, house arrests, detention and, FIRs, not to mention the overarching implementation of Section 144 across the state. Read more

Coal mining and community activism in India

Ecologist | Jan 21, 2020

The Gond tribe of Hasdeo Arand, the largest and oldest stretch of forest land in central India, is on the verge of losing its home in the face of coal mining.

As the bus screeches to a halt, the air is thick with the smell of imminent rain against the quiet din of a forest waking up to the first morning light. We have just arrived at Madanpur—a village in the heart of the Indian state of Chhattisgarh, and some 300km from its capital, Raipur. Read more

राजस्थान सरकार ने सिलिकोसिस काे लेकर मांगी तथ्यात्मक रिपोर्ट, अब हर बुधवार को एकेएच में होगी स्क्रीनिंग

Dainik Bhaskar | Jan 22, 2020

बिना सुरक्षा कार्य कर रहे श्रमिक समूचे मगरा इलाके में खेती लायक भूमि नहीं होने और रोजगार का कोई दूसरा साधन…

बिना सुरक्षा कार्य कर रहे श्रमिक

समूचे मगरा इलाके में खेती लायक भूमि नहीं होने और रोजगार का कोई दूसरा साधन नहीं होने के कारण ग्रामीण क्षेत्र समेत शहरी इलाके के सैकड़ों लोगों के सामने रोजगार का एकमात्र साधन ब्यावर और आस पास स्थापित पत्थर पीसने की फैक्ट्रियों में मजदूरी करना रह जाता है। इन फैक्ट्रियों में ब्यावर और आस पास के ही नहीं बल्कि प्रदेश के बाहर के श्रमिक मजदूरी करते हैं। आश्चर्यजनक बात यह है कि यह मजदूर भी सिलिकोसिस की भयावहता से अवगत होने के बावजूद यहां कार्य कर रहे हैं और इन श्रमिकों को नियमानुसार जो सुरक्षा के साधन उपलब्ध करवाए जाने चाहिए वह भी कागजों में ही मिल रहे हैं। हालांकि फैक्ट्री संचालकों का कहना है कि वह श्रमिकों को मास्क उपलब्ध करवाते हैं लेकिन मजदूर मास्क नहीं पहनते। Read more

देदपुरा और दौलतपुरा के 72 घरों में 160 विधवाएं, कारण- सिलिकोसिस, 187 कर रहे मौत का इंतजार

Dainik Bhaskar | Jan 20, 2020

  • ब्यावर और इसके आसपास के गांवों में पत्थरों के काम से जुड़े परिवारों की स्थिति दयनीय
  • राज्य सरकार ने बीमारी के खिलाफ नीति तो जारी की, सार्थक इलाज सामने नहीं आ सका

ब्यावर | राज्य सरकार ने सत्ता में आने के बाद अपना चुनावी वादा निभाते हुए नई सिलिकोसिस नीति तो जारी कर दी, मगर राज्य के एक बड़े इलाके में रोजी-रोटी के साथ जुड़ी इस जानलेवा बीमारी के धीमे जहर का कोई सार्थक इलाज अब तक सामने नहीं आ पाया है। हालात शायद सरकार की सोच से ज्यादा खतरनाक हैं। Read more

1 2 3 4 15